फुटबॉल का एक युग- डिएगो माराडोना

डिएगो माराडोना 
फुटबॉल जगत मे आज तक का सबसे बेहतरीन फ़ुटबॉल खिलाड़ी माना जाता है। 

जन्म-  30 अक्तूबर, 1960, अर्जेटीना में
निधन- 25  नवम्बर 2020 , 60 वर्ष की उम्र मे हार्ट अटेक से निधन हो गया।
हालकी  11 नवम्बर  2020 को उनको ब्रेन सर्जरी के लिये  अस्पताल मे से  छुट्टी मिली थी। 
 आज मानो फुटबॉल जगत के एक युग  का अन्त  हो गया है।

अन्तर्राष्ट्रिय खेल-
•   डिएगो माराडोना को अर्जेटीना का सबसे महान फुटबॉलर माना जाता है। इन्होने अपने अन्तर्राष्ट्रिय करियर मे 91 मैच खेले।
•  1986 विश्व कप में अर्जेटीना के टीम की अगुवाई की और जीत दिलायी।
हैड ऑफ़ गॉड –  1986 विश्व कप में  इनके द्वारा  के गये एक निर्णायक गोल को हैड ऑफ़ गॉड  भी कहा जाता है।
• अपने अन्तर्राष्ट्रिय करियर मे 91 मैचो में 34 गोल किये।

1986 विश्व कप

क्लब रिकॉर्ड – 
डिएगो माराडोना ने अपने फुटबॉल करियर में अनेक नामचीन  क्लबों से फुटबॉल खेला है ओर उनका प्रदर्शन इस प्रकार है
क्लब                     साल                 मैच             गोल    बोका जूनियर्स      1981-82          40              28
बार्सिलोना            1982-84        36              22
नेपोली                 1984-91        188               81

1997 में अपने 37वें जन्मदिन पर फुटबॉल से सन्यास ले लिया।
उपलब्धियां-   
फीफा  प्लेयर ऑफ़ दी सेंचुरी पुरस्कार के लिए सर्वप्रथम स्थान मिला और उन्होंने पेले के साथ पुरस्कार में साझेदारी की। 
• 1986 का विश्व कप  इसमें उन्होंने अर्जेन्टीना की कप्तानी की और टूर्नामेंट का सर्वश्रेष्ट खिलाड़ी होने का गोल्डन बॉल पुरस्कार जीता।

डिएगो माराडोना जेसे महान फुटबॉलर की कमी हमेशा खलेगी और आज पुरा विश्व उनके आकिमिक निधन पर दुखी है एवं  श्रदाँजलि  देते है।

%d bloggers like this: