Hindi

भारत और टीकाकरण

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार भारत में  टीकाकरण में 20 करोड़ टीके के लग चुके हैं और ऐसा करने वाला भारत विश्व में दूसरा देश बन चुका है
इसी टीकाकरण से कोरोना की दूसरी लहर आने के बाद सुधार देखा है|


महत्वपूर्ण तथ्य


• भारत में कोरोना के टीके लगने की पहल 16 जनवरी को हुई थी 16 जनवरी से 26 मई तक 20 करोड़ डेज लग चुके हैं
वर्तमान काल में कोरोना  के दो टीके दी जाती है।
• 20 करोड़ टीके में कुछ लोगों को दोनों तथा कुछ को टीके ही लगे हैं
• भारत के अलावा अमेरिका ने भी करोड़ से ज्यादा टीके लगा दिए हैं
• 4 करोड लोगों को ही दोनों टीके लगे हैं जो कि भारत की जनसंख्या के अनुपात में 3.1% ही है।
• वर्तमान समय में देश मे कोरोना के टीके कोविशिल्ड और कोवेक्सिन बनायी जा रही है ।
• तीसरी टीके के रूप में रूस की स्पूतनिक 5 को अप्रैल में अनुमति मिल गई है

विभिन्न देशों में टीकाकरण
विभिन्न देशों में टीकाकरण

अब तक 2 लाख टीके आ भी चुके है।

भारत की गिरती टीकाकरण दर-


• देश में अप्रैल से मई तक लगने वाली कोरोना टीको की संख्या में कमी आयी है।
• अप्रैल प्रथम सप्ताह में 35 लाख टीके ओर अब मई के अंतिम सप्ताह में 15 लाख टीके रोज लग रहे है।
• इस गिरती दर से टीके लगती रही तो पूरे भारतीयों के टीकाकरण तीन साल लगेंगे।

टीकाकरण की गिरती दर
टीकाकरण की गिरती दर


बदलाव की आवश्यकता –


• भारत में टीको के उत्पादन को ज्यादा से ज्यादा बढ़ाया जाये।
• हर महीने 20 करोड़ टीकेलगे तो भी 10 महीने लगेंगे पूरे भारतीयो को लगाने में।
• कोरोना टीको के निर्यात पर रोक लगाई जाये।


मूल लेखक– राम नारायण विश्नोई

हमारे अन्य लेख पढ़ें : इजराइल और फिलिस्तीन के विवाद का इतिहास

Related Articles

Back to top button