HindiWorld

चीन के द्वारा पश्चिमी ब्रांडों का बहिष्कार

पिछले कुछ समय से चीन के द्वारा पश्चिमी ब्रांड की कंपनियों के उत्पादों को बच्चों के लिए हानिकारक और निम्न गुणवत्ता का बता कर बहिष्कार किया जा रहा है|
जैसे – nike , adidas , zara , Lego इत्यादि|

बहिष्कार का कारण-

•   कुछ समय पहले H & M कंपनी द्वारा कहा गया कि चीन के शिंजियांग प्रांत के लोगों से प्रताड़ित करके कपास का उत्पादन किया जा रहा है उस कपास का प्रयोग कंपनी अपने उत्पादों में नहीं करेगी|

चीन का पलटवार-

चीन के द्वारा कहा गया कि पश्चिमी कंपनियां उनके कपास का प्रयोग से बहिष्कार करके और चीन में अपने उत्पादों को बेचकर मुनाफा कमा रही है|

चीन द्वारा पश्चिमी ब्रांड का विरोध

चीन द्वारा उठाए गए कदम-

• कुछ समय पहले चीन के कस्टम विभाग ने एक सूची जारी की जिसमें बच्चों के लिए हानिकारक और निम्न गुणवत्ता वाले उत्पादों की कंपनी को बहिष्कार किया गया|
चीन के लोगों के द्वारा इन कंपनियों की कड़ी निंदा की गई|
• पश्चिमी कंपनियों के उत्पादों का प्रचार करने वाले के नामचीन लोगों ने भी अपना नाम वापस ले लिया|
पहले कुछ कंपनियों का बहिष्कार किया धीरे बहिष्कारीत कंपनियों की संख्या बढ़ा दी|
• वेबसाइट से पश्चिमी ब्रांड के स्टोर और वेबसाइट को बैन कर दिया गया|

बहिष्कार से प्रभावित कंपनियां-

• H&m – कस्टम विभाग के अनुसार इस कंपनी द्वारा कपड़ों में उपयोग किया जाने वाला कलर
अर्थात डाई को बच्चों के लिए हानिकारक बताया|
• Nike – इस कंपनी के कुछ उत्पादों को हानिकारक बताया|
• Zara – कुर्ता और नीकरो को इस कंपनी केहानिकारक बताया।
• Lego – डेनमार्क इस खिलौने बनाने वाली इस कंपनी के द्वारा प्रयोग में लिए जाने वाला कच्चा माल को बच्चों के लिए हानिकारक बताया|
•  अन्य कंपनियां- GAP , Adidas इत्यादि|



मूल लेखक– राम नारायण विश्नोई

हमारे अन्य लेख पढ़ें : इजराइल और फिलिस्तीन के विवाद का इतिहास

Related Articles

Back to top button